जो लोग सवाल नहीं उठाते
वे पाखंडी हैं

जो सवाल नहीं कर सकते
वे मूर्ख हैं

जिनके ज़हन में
सवाल उभरता ही नहीं
वे ग़ुलाम हैं

~ जॉर्ज गॉर्डन बायरन
प्रतीकात्मक चित्र

किसी को अपने अमल का हिसाब क्या देते
सवाल सारे ग़लत थे जवाब क्या देते

~ मुनीर नियाज़ी